गुरु बाज़ार

यह अमृतसर के बेहद प्राचीन बाज़ारों में से एक है, जो स्वर्ण महल एवं गुरु का महल के बीच में स्थित है। आभूषणों की ख़रीददारी करने यहां पर सैकड़ों लोग आते हैं। यह बाज़ार विशेष रूप से स्वर्ण एवं चांदी के आभूषणों के लिए लोकप्रिय है, जिनमें से कुछ में कीमती रत्न जुड़े होते हैं। इस बाज़ार की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि पारंपरिक भारतीय आभूषण जो जड़ाऊ कहलाते हैं, यहां पर मिलते हैं। इसमें 2,500 से अधिक दुकानें स्थित हैं, जिनमें चांदी के चमकीले दीये, भगवान गणेश की मूर्तियां, भगवान शिव, देवी लक्ष्मी तथा मिट्टी के दीये इत्यादि मिलते हैं।   

कटरा जैमल सिंह बाज़ार

यह अमृतसर के बेहद लोकप्रिय बाज़ारों में से एक है, जो पुराने शहर में है। यह बाज़ार स्वर्ण मंदिर और जलियांवाला बाग जैसे प्रमुख आकर्षणों से कुछ ही दूरी पर स्थित है। रौनक से भरपूर इस बाज़ार में रियायती दरों पर सामान मिलता है, इस कारण यहां से थोक में सामान ख़रीदा जा सकता है। यहां पर रंग-बिरंगे ऊनी गुलबंद, कढ़ाईदार दुपट्टे व साड़ियों से लेकर पुरुषों के लिए वैवाहिक पोशाकें, कमीज़ें, रेशमी टाइयां एवं पंजाबी जूतियां तक अनेक प्रकार का सामान मिलता है। गलियों की भूलभुलैयों वाला यह बाज़ार कपड़ों, मसालों, पापड़ एवं वड़ियों के लिए प्रसिद्ध है। अगर आपको ख़रीददारी नहीं करनी तब भी केवल शहर की जीवंतता का अहसास करने के लिए चहलकदमी कर सकते हैं।  

हॉल बाज़ार

यह अमृतसर के बेहद भीड़-भाड़ भरे बाज़ारों में से एक है। यह अतिव्यस्त बाज़ार रेलवे स्टेशन से मात्र एक किलोमीटर की दूरी पर है और कोई भी वहां आसानी से पहुंच सकता है। यह बाज़ार फुलकारी कढ़ाई वाले सामान, लैम्प एवं जूतियों के लिए लोकप्रिय है। यहां पर मिलने वाले अन्य सामान में जूते, इलेक्ट्रॉनिक सामान, शॉलें, कालीन, पोशाकें आदि शामिल हैं। इस बाज़ार में शहर के बेहतरीन रेस्तरां एवं खाने-पीने की दुकानें स्थित हैं। यह बाज़ार कंपनी बाग, गांधी गेट एवं टाउन हॉल के बेहद करीब है।